राजीव बजाज का नाम अचानक से वैसे ही चर्चा में आने लगा है, जैसे कभी राहुल बजाज का आता था। राजीव ने भी पिछले दिनों में मोदी सरकार के खिलाफ काफी बयान दिए थे, दिल्ली में बेहतरीन कोरोना प्रबंधन के लिए केजरीवाल की तारीफ की थी, लॉकडाउन लगाने को लेकर मोदी सरकारी की काफी आलोचना की थी और चीन के मुद्दे पर पर भी चीन की तारीफ की थी। राहुल गांधी के साथ लाइव इंटरव्यू में आकर भी वो चर्चा में आ गए थे। लेकिन आज उनका सोशल मीडिया पर जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है, वो ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं।

Image

हर कोई एक नई खबर के साथ उनका राहुल गांधी के साथ एक हालिया इंटरव्यू शेयर कर रहा है। इस इंटरव्यू को आप सुनेंगे तो पाएंगे कि वो कह रहे हैं कि बच्चों, बूढ़ों को हैल्थ रिस्क कोरोना से समझ आता है, लेकिन जवान लोगों को काम पर जाने से रोकने का क्या मतलब है? लेकिन साथ में एक ताजा खबर भी लगी है, उसी खबर के चलते आज उनको ट्रॉल किया जा रहा है

खबर ये है कि महाराष्ट्र के औरगाबाद की उनकी फैक्ट्री बंद कर दी हई है क्योंकि उसके एक साथ 79 कर्मचारी कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। यानी वो जिद कर रहे थे कि फैक्ट्रियां खोल दी जाएं, लेकिन हकीकत ये है कि उन्होंने इसे सीरियस लिया ही नहीं और वो तमाम सुरक्षा इंतजाम किए ही नहीं, जो उनको कर्मचारियों को कोरोना से बचा सकते थे।

एक साथ 79 कर्मचारियों का कोरोना पॉजीटिव पाया जाना चौंकाता है। इसी के चलते स्थानीय प्रशासन ने फैक्ट्री में ताला लगा दिया है। अब इसी खबर के चलते लोगों के निशाने पर आ गए हैं राजीव बजाज। हर कोई उनका मजाक उड़ा रहा है।