विजय गोयल कुछ ना कुछ क्रिएटिव करने के मूड में हमेशा रहते हैं। सालों से उनके घर पर कोई ना कोई पोस्टर लगाने की परम्परा चली आ रही है, उस चुटीले पोस्टर के जरिए वो अमूल के कार्टून को कॉम्पटीशन देते आ रहे हैं। इस 25 जून को वो उससे भी आगे निकल गए। अपने घर में तिहाड़ जेल ही बनवा ली और इसके लिए उन्होंने बीजेपी के तमाम नेताओं को अपने घर बुलाया।

दरअसल मौका था इमरजेंसी की 45 वीं सालगिरह का। 25 जून को जहां कांग्रेसी नेता कोमा में चले जाते हैं, वहीं बीजेपी के नेता कांग्रेस पर जमकर निशाना साधते हैं। विजय गोयल ने भी मौका देखकर कर ली एक बड़ी दिलचस्प प्लानिंग। अपने घर में इमरजेंसी से जुड़ी एक प्रदर्शनी लगवा ली।

Image

इस प्रदर्शनी को देखने के लिए उन्होंने तमाम नेताओं को घर पर आमंत्रित किया। जिनमें बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष, बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और दिल्ली के प्रभारी श्याम जाजू, केन्द्रीय गृहराज्य मंत्री किशन रेड्डी और बीजेपी के ताजा ताजा दिल्ली प्रदेश अध्य़क्ष बने आदेश गुप्ता भी थे।

Image

विजय गोयल ने दावा किया है कि इस प्रदर्शनी में उन्होंने इमरजेंसी से जुड़े कई तरह के दस्तावेजों को वहां रखा था, ये दुर्लभ दस्तावेज थे, जो उन्होंने 45 साल से संभाल कर रखे थे। तो कोरोना के चलते जहां बीजेपी या केन्द्र सरकार ने इमरजेंसी की 45वीं सालगिरह पर जरूर कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं किया, लेकिन विजय गोयल ने इस प्रदर्शनी के जरिए महफिल लूटने की कोशिश तो जरूर की है।