नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन के ग्रैंड फिनाले को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने खुद ट्वीट करके यह जानकारी दी. इस दौरान करीब 10 हजार से अधिक छात्र सरकारी विभागों और उद्योगों की 243 समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे. इस बाबत पूरी तैयारी कर ली गई है ताकि कल के इस समारोह को सफल किया जा सके. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को हैकाथॉन की योजना को अंतिम रूप देने के लिए एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की.

दरअसल स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन चुनौतियों को हल करने के लिए डिजिटल तकनीक आधारित नवोन्मेष की पहचान करने की एक पहल है. मानव संसाधन विकास मंत्री ने बीते दिनों बताया था कि कोरोना महामारी को ध्‍यान में रखते हुए यह ऑनलाइन आयोजित किया जाएगा जिसमें सभी प्रतिभागियों को विशेष तौर पर निर्मित एक उन्नत प्लेटफार्म पर एक साथ जोड़ा जाएगा. इस साल 10,000 से अधिक छात्र होंगे जो केंद्र सरकार के 37 विभागों, 17 राज्य सरकारों और 20 उद्योगों की 243 समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे. सरकार ने प्रत्येक समस्या के लिए एक लाख रुपये की पुरस्कार राशि रखी है.

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक के मुताबिक स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन देश के सामने आने वाली चुनौतियों के समाधान और नई डिजिटल प्रौद्योगिकी नवाचारों की पहचान करने के लिए एक अनूठी पहल है. उन्‍होंने कहा कि आत्म-निर्भर भारत की मजबूत नींव रखने के लिए छात्रों के आइडियाज को लगातार ट्रैक करने और उन्हें आइडिया के लेवल से प्रोटोटाइप लेवल तक ले जाने की जरूरत है. स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2020 (सॉफ्टवेयर) के गैंड फिनाले का आयोजन 1 अगस्त से 3 अगस्त तक किया जाएगा.