पिछले कुछ महीनों से लगातार सोशल मीडिया पर मोरारी बापू के खिलाफ माहौल जो बन रहा था, वो आज चरम पर पहुंच गया। श्रीकृष्ण की नगरी द्वारका में उन्हीं को लेकर किया गया मोरारी बापू का एक कमेंट बीजेपी के एक पूर्व विधायक को इतना नागवार गुजरा कि भरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में वो तेजी से मोरारी बापू को पीटने के अंदाज में घुसे कि जामनगर की सांसद और उनके एक सहयोगी ने पकड़ लिया, वरना वाकई बुरा हाल होता।

दरअसल मोरारी बापू गुजरात में श्रीकृष्ण की नगरी द्वारका गए हुए थे और मुद्धा भी यादवों के एक आपसी मुद्दे को सुलझाना था, उसी मीटिंग में उन्होंने श्रीकृष्ण को लेकर एक कमेंट कर दिया, हालांकि लोगों की नाराजगी देखकर उन्होंने माफी भी मांग ली थी। उन्होंने इस विवादित टिप्पणी में कहा था, श्रीकृष्ण अपने ही नगर द्वारका में धर्म स्थापित करने में नाकाम रहे, जिससे लोग नाराज हो गए। दरअसल इन दिनों सोशल मीडिया पर मोरारी बापू के कई ऐसे प्रवचन घूम रहे हैं, जो स्थापित मान्यताओं पर सवाल उठाते दिखते हैं, कृष्ण बलराम पर उन्होंने पहले भी सवाल उठाए हैं।

उसके बाद मोरारी बापू की प्रेस कॉन्फ्रेंस थी, वो जामनगर की सांसद पूनम मदाम और बाकी लोगों के साथ मीडिया से बात ही कर रहे थे कि अचानक से बीजेपी के पूर्व विधायक पाबूभा मानेक आ पहुंचे, वीडियो में आप देख सकते हैं कि पीले कुर्ता पहने हुए मानेक मोरारी बापू की तरफ गुस्से में बढ़ते हैं कि करीब एक फुट की दूरी पहले ही सोफे से जामनगर की सांसद पूनम और एक अन्य सहयोगी उन्हें रोकते हैं, पकड़कर बाहर ले जाते हैं, वो गुस्से में कुछ चिल्ला भी रहे हैं।

मानेक के बारे में जान लीजिए कि नॉमिनेशन भरते वक्त उन पर कुछ गलती हुई थी, जिसके चलते उन्हें विधायक पद छोड़ना पड़ा था। ऐसे में वो पहले से चर्चा में थे। हालांकि बाद में उन्होंने सफाई दी है कि वो कोई बदतमीजी करने मोरारी बापू की तरफ नहीं बढ़े थे, लोगों ने उनकी बॉडी लेंग्वेज से ऐसा समझ लिया होगा। लेकिन आप वीडियो में देखकर खुद ही तय कर सकते हैं कि वो झूठ बोल रहे हैं या गलत।