चीन इतना दबा ढका देश है क्या इसको क्या बोलना है, क्या बयान देना है ये काम भी वो किसी और से करवाता है और वो करती है इसकी सरकारी बंधुआ मीडिया। तीन दिन से चीनी बॉर्डर पर जो हुआ, उसको लेकर मोर्चा ग्लोबल टाइम्स और उसके एडीटर इन चीफ हू शी जिन ने संभाल रखा है। गलती से ग्लोबल टाइम्स ने लिखा दिया कि हमारे भी सैनिक मरे हैं, उसके बाद वो संख्या बताने को तैयार नहीं, लेकिन लगातार वो परेशान है चीनी प्रोडक्टस पर बैन की मांग से। सो पहले स्वदेशी जागरण मंच पर निशाना साधा, अब निशाने पर हैं हरभजन सिंह

हरभजन सिंह ने आखिर ऐसा कर दिया कि परेशान हो गया है चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स का एडीटर इन चीफ, पढ़िए उसका ट्वीट

चीन अपनी कंपनियों के जरिए कई सारे बॉलीवुड के सितारों को मोटी फीस देकर भारतीयों को उनके प्रोडक्ट्स खरीदने के लिए, अपनी इमेज चमकाने के लिए इस्तेमाल करता है। इसीलिए चीन इस ट्वीट के जरिए हरभजन को एक दबी ढकी धमकी दे रहा है कि आगे से तुम लिस्ट में हो, कोई कंपनी तु्म्हें नहीं लेगी।

ऐसे में ये वाकई में कहना मुश्किल है कि जिस तरह से पहले मिलिंद सोमण, अरशद वारसी और अब हरभजन सिंह ने चीनी प्रोडक्ट्स के खिलाफ आव्हान किया है, बाकी सितारे भी ऐसा कर पाएंगे। लेकिन ये तय है कि लोगों के अंदर गुस्सा है और जैसे जैसे शहीदों की लाशें उनके गांव पहुंच रही हैं, ये गुस्सा बढ़ रहा है, और भज्जी का भी दिल है, सो गुस्से में लिख डाला

लेकिन चीन को ये रास नहीं आ रहा है, ग्लोबल टाइम्स के एडीटर ही नहीं सभी चीनी कम्युनिस्ट्स अधिकारियों का चीनी कंपनियों में तगड़ा निवेश है, जिसे इस घटना के बाद उससे भी तगड़ा झटका लगना तय है, इसलिए वो बार बार अपनी रिपोर्ट्स के जरिए चेता रहे हैं कि भारत को इससे बड़ा नुकसान होगा

चीन इस लेख में स्वदेशी जागरण मंच और RSS की बुराई कर रहा है, क्योंकि आव्हान उन्हीं की तरफ से है और पहली बार चीन इतना परेशान है, उसे पता है कि इन सबका असर उनके बिजनेस पर कितना पड़ेगा। उस पर अगर हरभजन सिंह जैसे सेलब्रिटी भी मैदान में उतर गए तो चीनी कंपनियों का बेड़ा गर्क ही हो जाएगा, भज्जी के ही लाखों फॉलोअर्स हैं।